बिजनेस प्लान कैसे बनाएं ? ( ९ स्टेप ) | How To Make A Business Plan In Hindi ( 9 Steps )

एक बिजनेस शुरू करने से पहले हम बिजनेस आइडियाज तलाश करते हैं और हमें एक अच्छी बिजनेस आइडिया मिल भी जाती है लेकिन सिर्फ एक अच्छी बिजनेस आइडिया से काम नहीं होता।

यदि आप अपने बिजनेस आइडिया को Reality  में उतारना चाहते हैं तो आपको एक बिजनेस प्लान बनाने की आवश्यकता है। बड़ा व्यावसायिक हो या छोटा व्यवसायिक सभी को बिज़नेस प्लान बनाना चाहिए।

केवल हवा में महल बनाने के बजाय, अगर आप एक Business Plan बनाते हैं तो आपके बिजनेस शुरू करने की संभावना बढ़ जाती है और आपकी सफलता की संभावना भी बढ़ जाती है।

इसलिए आपको सबसे पहले अपना एक बिजनेस प्लान बनाना चाहिए।

Business Plan In Hindi

बिजनेस प्लान क्या है? ( What is Business Plan In Hindi )

बिजनेस प्लान एक बिजनेस की लिखित Strategy होती है। या प्लानिंग होती है जिसमें बिजनेस के सभी Details दिए जाते है।

बिजनेस प्लान में कंपनी का Goal क्या है ?, वह Goal किस तरह Achieve किया जाएगा ?, उस Goal को Achieve करने समय उसे किन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा ? और उन्हें कैसे दूर किया जाएगा ? ऐसी सभी जानकारी एक बिजनेस प्लान में होती है।

बिजनेस प्लान कैसे बनाएं? ( How To Make a Business Plan In Hindi ? )

आप अपनी इच्छा और जरूरत के अनुसार जैसे चाहे वैसे एक बिजनेस प्लान बना सकते हैं लेकिन हर बिजनेस प्लान में कुछ जरूरी चीजें होनी चाहिए। वह चीजें क्या है ये आप इस पोस्ट में आगे समझेंगे।

लेकिन पहले हम यह जानेंगे कि बिजनेस प्लान के कौन-कौन से प्रकार है ?

बिजनेस प्लान के प्रकार ( Types Of Business Plans In Hindi )

बिजनेस प्लान मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं। पहला प्रकार है Simple Business Plan जिसे वन पेज बिजनेस प्लान भी कहा जाता है और दूसरा प्रकार है Traditional Business Plan

Traditional Business Plan ( In Hindi )

यह बिजनेस प्लान Long होता है और बहुत detail में लिखा जाता है 

ये बिजनेस प्लान कभी-कभी 30 से 40 Pages का भी हो सकता है। यह बिजनेस प्लान आने वाले कई वर्षों तक आपका मार्गदर्शन करता है क्योंकि इसमें सभी जानकारी बहुत Detail में लिखी जाती है।

बिजनेस को Loan देने से पहले या बिजनेस में Invest करने से पहले बैंक और Investor इसी बिजनेस प्लान को देखते हैं।

1. Executive Summary

यह आपके बिजनेस प्लान का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है और आपको यह सेक्शन बिजनेस प्लान के अंत में लिखना होता है क्योंकि ये वो सेक्शन है जहां आप अपने संपूर्ण बिजनेस प्लान की Summary लिखनी होती है। 

जिस तरह आप अपने Product को Sell करते समय उसकी Advertise करते हैं उसी तरह से यह Executive Summary आपको लिखनी है।

यह समरी पढ़ने वालों को आपके बिजनेस में Interest उत्पन्न होना चाहिए और उस व्यक्ति के  अंदर ये संपूर्ण बिजनेस प्लान पढ़ने की इच्छा निर्माण होनी चाहिए। 

आप जो बिजनेस कर रहे हैं या करना चाहते हैं उसमें क्या Opportunity है ? कौन सा Problem है ? और उसे आप किस तरह Solve करने वाले हैं ? इसकी आपको Short में जानकारी देनी है। 

साथ ही अगर आप Bank से Loan प्राप्त करना चाहते हैं तो वह कितना चाहिए और किस लिए चाहिए इसकी जानकारी भी आपको यहां देनी है।

2. Company Description

इस Section में आपको अपनी कंपनी की या व्यवसाय की जानकारी देनी है। आप नीचे दिए गए Points के अनुसार जानकारी लिख सकते हैं।

  • आपके कंपनी का नाम क्या है ?
  • आपके कंपनी का या व्यवसाय का प्रकार क्या है ? – यदि आप कंपनी के प्रकार जानना चाहते हैं तो Types of Company In Hindi इस पोस्ट को पढ़े।
  • आपका बिजनेस मॉडल क्या है ?
  • आपका बिजनेस कैसे काम करता है ?
  • आपके कंपनी का इतिहास क्या है ? – जैसे कि आपकी कंपनी कब शुरू हुई थी ? कंपनी ने इससे पहले क्या किया है ?
  • कंपनी का Goal या Mission Statement क्या है ? – यह आपको एक सेंटेंस में बताना है
  • व्यवसाय का Location क्या है ? और यह व्यवसाय किस Area ( क्षेत्र ) में काम करता है ?

3. Products & Services 

इस सेक्शन में आप कौन से Products और Services देने वाले हैं ? या दे रहे है उसकी जानकारी देनी है। यह जानकारी देते समय आपको अपने कस्टमर के दृष्टिकोण से सोचने की आवश्यकता है।

  • आपका Products क्या है ?
  • वह कौन सा Problem Solve कर रहा है ?
  • किस तरह से Solve करेगा या कर रहा है ?  

यह आपको बताना है।

इसी के साथ आपके Product की Price क्या है ? यह भी आपको बताना है। 

आपका Pricing Model क्या है ? और आपका Profit Margin क्या है ? यह भी बताना है

आप खुद प्रोडक्ट को Manufacture करते हैं या किसी कार के द्वारा Manufacture कराते हैं यह आपको बताना है।

4. Marketing plan ( मार्केटिंग प्लान )

किसी भी बिजनेस में सफल होने के लिए सबसे जरूरी चीज होती है मार्केटिंग और इसलिए आपको अपने बिजनेस के मार्केटिंग की प्लानिंग करना बहुत जरूरी है।

आपके मार्केटिंग के प्लान में नीचे दिए गए Points होना जरूरी है।

Market Research – बिजनेस शुरू करने से पहले आपको अपने मार्केट का रिसर्च करना आवश्यक होता है।

आप जो Product मार्केट में बेच रहे हैं उसका मार्केट कितना बड़ा है ? उस मार्केट में कितनी कंपटीशन है ? उस मार्केट का भविष्य कैसा है ?  यह सभी जानकारी और उससे संबंधित आंकड़े आपको यह देने हैं। 

आप यह आंकड़े ऑनलाइन Google से भी प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन कुछ चीजों का आपको स्वयं रिसर्च करना होगा।

Target Customer – आपको आपके टारगेट कस्टमर कौन है यह पता होना अत्यंत जरूरी होता है।  बहुत से लोगों को उनके Target Customer कौन है यह पता नहीं होता।  यदि आप उनसे पूछते हैं कि आपके टारगेट कस्टमर कौन हैं तो वह आपको बताएंगे की – हर कोई। 

हर कोई इंसान आप का टारगेट कस्टमर कभी नहीं होता।  उदाहरण के लिए यदि आप महिलाओं के कपड़े बेच रहे हैं तो आपके टारगेट कस्टमर है – महिलाएं

आपके जो कोई टारगेट कस्टमर है उनकी सभी जानकारी आपके पास होनी आवश्यक होती है जैसे कि

  • Age
  • Gender
  • Location
  • Marital status
  • Income Source
  • Interests
  • Education
  • Buying Habits

Competitive Analysis

बिजनेस करते समय आपके पास अपने स्पर्धकों की संपूर्ण जानकारी होनी आवश्यक है जैसे कि

  • आपके स्पर्धक ( Competitor ) कौन है ?
  • उनकी Strength क्या है ?
  • उनकी Weakness क्या है? 
  • उनके Product की Price क्या है ? 
  • उनकी मार्केटिंग Strategy क्या है ?
  • आपके और उनके बिज़नेस में क्या अंतर है ? 
  • आपके और उनके Product में क्या समानताएं हैं और क्या भिन्नताएं हैं ?
  • उनकी Team कैसी है ?
  • उनके Customer Reviews कैसे हैं ?

Competitive Advantage – लगभग हर बिजनेस में Competition होती है और अगर आप अपने Competition को हराना चाहते हैं तो आपके पास Competitive Advantage होना चाहिए।

तो फिर आपके पास कौन सा Competitive Advantage है ? यह आपको बताना है। आपका कस्टमर आपके Competition की बजाए, आपके पास क्यों आए ? यह आपको Explain करना है।

Positioning – इस बिजनेस में आप वास्तव में किस क्षेत्र में काम करने जा रहे हैं ?, आपकी पहचान क्या होगी ?, आप की Positioning क्या होगी ?

चलो इसे थोड़ा और समझते है – 

Business में आप सब कुछ नहीं कर सकते। आपको केवल किसी एक क्षेत्र में Expert  होने की आवश्यकता होती है

जैसे कि अगर आप किसी Health की समस्या को हल करने जा रहे हैं तो आप की Positioning एक Health Brand ऐसी होगी

यदि आपका Product केवल महिलाओं के लिए है तो आपकी Positioning उसी तरह से होगी। लोग आपको उसी के लिए जानेंगे। 

आपके Business की किस में में Expertise है ? या फिर लोग आपको किस क्षेत्र का Expert या Specialist माने ?

Method of Marketing – आप अपने Product या Services की मार्केटिंग किस तरह करने वाले हैं ? इसकी जानकारी आपको यहां पर देनी है जैसे कि

  • Digital Marketing
  • Social Media Marketing
  • Facebook Ads
  • Google Ads
  • YouTube Marketing
  • Mobile Marketing
  • Website
  • Logo & Branding
  • Trade Shows
  • Tv Advertising
  • Mouth Publicity
  • Events

Marketing Budget – बिजनेस में सफल होने के लिए सबसे जरूरी है मार्केटिंग।  लेकिन ज्यादातर लोग मार्केटिंग को नजरअंदाज कर देते हैं।

बिजनेस करते समय मार्केटिंग के लिए एक अलग बजट निर्धारित करना बहुत जरूरी होता है और इसलिए आपको यहां पर आपके मार्केटिंग का बजट क्या है यह बताना है।

5. Operational Plan

यहां पर आपको आपके बिज़नेस के Operations के प्लानिंग की जानकारी देनी है।

Staffing – आपको किस तरह के श्रमिकों की और Employees की आवश्यकता है ? कितने श्रमिकों की या Employees की आवश्यकता है ? आप उन्हें किस प्रकार का प्रशिक्षण देंगे ? उन्हें कितना पेमेंट देंगे ? इसकी जानकारी आपको यहां पर देनी है। 

Production – अगर आप Manufacturing कर रहे हैं तो आपके Production की Process क्या है ? उसके लिए आपको कौन से मशीनरी की आवश्यकता है और कौन से अन्य चीजों की आवश्यकता है ? उसकी जानकारी आपको यहां पर देनी है

Location – यदि आपको आपके बिजनेस के लिए Physical Location की आवश्यकता है तो उसकी जानकारी आपको यहां पर देनी है जैसे कि उसका किराया कितना होगा ? उसकी Maintenance Cost कितनी होगी ?

Legal Environment – आपके बिजनेस के लिए आपको कौन से लाइसेंस ,ट्रेडमार्क, कॉपीराइट Insurance की आवश्यकता होगी ? इसकी जानकारी आपको यहां पर देनी है

Raw Material & Inventory – इस बिजनेस के लिए अगर आपको Raw Material या Inventory की जरूरत है तो यहां पर उसकी जानकारी आपको देनी है। 

Suppliers & Vendors – यदि आप अपने बिजनेस के लिए कोई Suppliers और Vendors ( विक्रेता ) का उपयोग करते हैं तो उसका विवरण आपको यहां देना है। 

Payment Terms -आप कस्टमर से पेमेंट किस तरह लेते हैं ? उसकी जानकारी आपको यहां पर देनी है जैसे कि अगर आप उधारी पर प्रोडक्ट्स देते हैं तो उसकी जानकारी देनी है और फिर उस उधारी को किस तरह वसूला जाता है उसकी भी जानकारी यहां पर देनी है।

6. Management Team

यहां आपको आपके टीम की जानकारी देनी है।  एक मजबूत और अच्छी टीम के बिना आप किसी भी बिजनेस में आगे नहीं बढ़ सकते। 

  • आपके टीम के सदस्य कौन हैं ?
  • उनका नाम क्या है ?
  • वह किस में Expert है ?
  • उनके Resumes की Summary आपको यहां पर देनी है।

7. Budget & Expenses

यहां पर आपको आपके बजट और खर्चों के बारे में जानकारी देनी है जैसे कि व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको कितना पैसा लगा या लगने वाला है ?

व्यवसाय शुरू करते समय हम जितना सोचते हैं उससे अधिक पैसों की जरूरत होती है इसलिए आपको इन Extra Funds को भी पहले से ही ध्यान में रखना चाहिए

Business शुरू शुरू करते समय आपको दो प्रकार के Expenses ध्यान में रखने हैं सबसे पहला है Capital Expenses और दूसरा है Operating Expenses

आप जब शुरुआत में एक बिजनेस शुरू करते हो तो उसके लिए जो Upfront लागत की आवश्यकता होती है उसे Capital Expenses कहा जाता है जैसे कि मशीनरी खरीदना, जगह खरीदना, फर्नीचर खरीदना

वैसे ही किसी बिजनेस को Operte करने के लिए जो पैसा लगता है उसे Operating Expenses कहा जाता है जैसे कि Day-To-Day Transaction, दुकान का किराया, लाइट बिल, Workers की पेमेंट

इन दोनों खर्चों को आपको यहां पर बताना है।

साथ ही में यदि किसी ने आपके बिजनेस में पहले से Invest ( निवेश ) किया है तो उसकी भी जानकारी आपको यहां देनी है। 

यदि आपने किसी बैंक से Loan लिया है तो उस के भी Dtails आपको यहां पर देने हैं।

साथ में आपके बिजनेस के जितने भी Owners ( मालिक )  है उन सभी की कितनी Assets ( संपत्ति ) है और कितनी Liabilities ( देयता ) है यह आपको बताना है।

अगर आप बैंक में Loan के लिए आवेदन कर रहे हैं तो आपको उसके भी Details यहां पर देने हैं जैसे कि आपको कितना लोन चाहिए ? किस लिए चाहिए ?

8. Financial Plan

यहां आपको अपनी Financial Planning की जानकारी देनी है। Financial Planning में नीचे दिए गए तीन Points की जानकारी आपको देनी चाहिए। 

Cash Flow Statement – Financial Planning का यह एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यहां आपको जानकारी देनी है कि आपके बिजनेस में कितनी Cash आती है और कितनी Cash बाहर जाती है।

अगर आपके पास Cash Flow Statement नहीं है तो आप आपके बिजनेस में कितनी कैश आएगी और जाएगी इसका अनुमान ( Projection ) दे सकते हैं।

Profit & Loss Projection – यहां पर आपको आपके बिजनेस के Profit और Loss की जानकारी देनी है।

भविष्य में आपके बिजनेस से कितना Profit होगा और कहां से होगा ? इसकी जानकारी आपको यहां देनी है।

Balance Sheet Projection – यहां आपको अपने बिजनेस की Assets और Liability के बारे में जानकारी देनी है

Assets जैसे की जमीन, मशीनरी, रियल एस्टेट, फर्नीचर

Liability जैसे कि बैंक लोन, बिल की पेमेंट

आप कितना Revenue Expect कर रहे हैं ?

आप कितनी Expenses Expect कर रहे हैं ?

9. Sales Plan

यहां आपको आपकी पिछली और अभी की Sales कितनी है ? या फिर भविष्य में आप कितनी Sales Expect कर रहे हैं ? और वह Sale कहां से आएगी ? इसकी जानकारी देनी है।

Simple Business Plan or One Page Business Plan ( In Hindi )

इस बिजनेस प्लान में बिल्कुल Short में एक Page के अंदर सारी जानकारी दी जाती है। यह बिजनेस प्लान लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है। 

नीचे आपके लिए कुछ Points दिए गए हैं।  इन Points का इस्तेमाल करके आप अपना One Page Business Plan बना सकते हैं। 

ये Points क्या है ? इसकी जानकारी मैं ऊपर पहले ही बता चुका हूं। 5 से 10 लाइन में बिल्कुल Short में इन Points को आपको Explain करना है।

  • Business Opportunity
  • Company Description
  • Team
  • Market Research
  • Target Customer
  • Marketing Plan
  • Competitive Advantage
  • Financial Plan
  • Funding Required

बिजनेस प्लान बनाने के लाभ ( Benefits of Business Plan In Hindi )

एक Investor किसी भी बिजनेस में Invest करने से पहले आपका बिजनेस प्लान देखता है।

बैंक से लोन प्राप्त करने के लिए भी एक अच्छे Business Plan का उपयोग होता है।

अच्छा बिजनेस प्लान आपको अच्छे Employees पाने के लिए भी उपयोगी होता है। 

बिजनेस करते समय बहुत सारी समस्याएं आती है और बिजनेस प्लान की वजह से आप पहले से ही उन समस्याओं का सामना करने के लिए तैयार होते हैं।

एक बिजनेस प्लान आपको इस बारे में स्पष्टता देता है कि आपको अपने बिजनेस के Goal को पूरा करने के लिए क्या करने की आवश्यकता है।

Conclusion –

यह दोनों बिजनेस प्लान आपको सिर्फ एक मार्गदर्शन के रूप में दिए गए है।  इस बिजनेस प्लान को बिल्कुल Same To Same कॉपी करने की आवश्यकता बिल्कुल भी नहीं है। 

ऊपर दिए गए बिजनेस प्लान में आप अपने जरूरत के हिसाब से और भी कई चीजें जोड़ सकते हैं या फिर इनमे से कुछ चीजों को आप कम भी कर सकते हैं।

Frequently Asked Questions

Q: सबसे बढ़िया बिजनेस कौन सा है?

किसी भी एक बिज़नेस को हम सबसे बढ़िया नहीं कह सकते लेकिन जिन चीजों की मार्किट में ज्यादा डिमांड है उनसे सम्बंधित बिज़नेस को हम सबसे बढ़िया बिज़नेस कह सकते है जैसे की कपड़ो का बिज़नेस, खाद्य पदार्थो से सम्बंधित बिज़नेस, शिक्षा से सम्बंधित बिज़नेस, दवाइयों से सम्बंधित बिज़नेस।

Q: नया व्यापार कौन सा करें?

यूट्यूब चैनल शुरू करना, Blogging करना, Instagram Influencer बनना, Electric गाड़ियों से सम्बंधित व्यवसाय

Q: 10000 में कौन सा बिजनेस करें?

१०००० में आप कई बिज़नेस कर सकते है जैसे की YouTube Channel, Blogging, पॉपकॉर्न बेचना, जूस का बिज़नेस, सैलून शुरू करना, वेबसाइट बनाना

Q: कौन सा काम में सबसे ज्यादा पैसा है?

जिन Products की मार्किट में सबसे ज्यादा डिमांड है और जिसमे सबसे ज्यादा Profit Margin है उन बिज़नेस से आप सबसे ज्यादा कमाई कर सकते है जैसे की कपड़ो का बिज़नेस, खाद्य पदार्थोंका बिज़नेस, ट्यूशन क्लास, दवाइयों का बिज़नेस

Q: सबसे कम पैसे में कौन सा बिजनेस करें?

सबसे कम पैसो में आप कई बिज़नेस कर सकते है जैसे के यूट्यूब चैनल, कंटेंट लिखना, Video Editing करना. कम पैसो में सुरु होने वाले बिज़नेस जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे >  १०१ बिज़नेस आईडिया – कम लागत, ज्यादा मुनाफा (2022)

Q: घर बैठे कौन सा बिजनेस करें?

घर बैठे आप कई बिज़नेस कर सकते है जैसे की घर से साड़ी बेचना, होम लॉन्ड्री, टिफिन सर्विस, मेहंदी सर्विस, आर्टिफिशियल ज्वेलरी बेचना, यूट्यूब चैनल शुरू करना, कंटेंट लिखना, Video Edit करना

Q: गांव में सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है?

गांव में खेती से सम्बंधित व्यवसाय आप कर सकते है जैसे की दूध का व्यवसाय, घी और दही बनाने का व्यवसाय। इसके साथ जरूरी चीजों का बिजनेस भी आप कर सकते है जैसे की किराने की दुकान

यह भी पढ़े

<< हिंदी Home Page पर जाने के लिए
< < मुख्य Home Page पर जाने के लिए ( Big Mastery.com)

Swapnil Shinde

Big Mastery के Founder और सी CEO। स्वप्निल शिंदे Ecommerce, Education, Content Creation, Hosting जैसे कई बिजनेस में काम कर रहे हैं।

Leave a Reply